फोटो 19 चंबल पुल से जलस्तर का डीएम जेबी सिंह, एसएसपी संतोष कुमार मिश्रा ने जायजा लिया।

  |   Etawahnews

उदी/इटावा। कोटा बैराज से पानी छोड़े जाने के असर से शनिवार शाम पांच बजे तक चंबल नदी खतरे के निशान 119.80 मीटर को पार कर 123 मीटर पर पहुंच गई है। हर घंटे औसतन 20 सेमी की रफ्तार से जलस्तर बढ़ रहा है। पछायगांव के बसवारा और चकरनगर के भरेह और हरौली गांव में पानी भर गया है। हालात का जायजा लेने डीएम और एसएसपी भी पहुंचे। एहतियात के तौर पर चंबल पुल पर अस्थायी बैरियर लगाने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही फसलों के नुकसान का भी आकलन किया जा रहा है।

राजस्थान में लगातार हो रही बारिश की वजह से कोटा बैराज से दो दिन पूर्व एक लाख 63 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। इसका असर दिख रहा है। शुक्रवार रात 9 बजे से चंबल में पानी बढ़ना शुरू हुआ, तब नदी का जलस्तर 117.45 मीटर था। शनिवार तड़के चार बजे जलस्तर खतरे के निशान 119.80 मीटर को पार कर 120.01 मीटर पहुंच गया। शनिवार को पूरे दिन जलस्तर में बढ़ोतरी हुई। सुबह 5 बजे जलस्तर 120.35 मीटर, 7 बजे 120.90 मीटर, सुबह 8 बजे 121.15 मीटर, 10 बजे 121.60 मीटर, सुबह 11 बजे 121.88 मीटर, दोपहर 12 बजे 122.10 मीटर, दोपहर दो बजे 122.48, शाम 4 बजे 122.80 मीटर और शाम 5 बजे यह 123 मीटर पर पहुंच गया। यह खतरे के निशान से तीन मीटर ऊपर है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/AUZ1UwAA

📲 Get Etawah News on Whatsapp 💬