बलदेवपुरा में मवेशियों को चराने गए तीन जनों को किया रेस्क्यू

  |   Bundinews

कापरेन. आजन्दा ग्राम पंचायत से जुड़े पुराने बलदेवपुरा में मवेशियों को चराने गए लोगों को चार दिन बाद शनिवार को रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाला गया। आलन खाळ में चम्बल नदी का पानी आने से पुराने बलदेवपुरा में मवेशी चराने गए कुछ लोग चार दिनों से फंसे हुए थे। ग्रामीणों की सूचना पर बूंदी से रेस्क्यू टीम यहां पर पहुंची। टीम प्रभारी हेड कांस्टेबल अम्मीलाल चौधरी ने बताया कि आजन्दा निवासी पप्पूलाल मीणा, उसकी पत्नी सुनीता बाई और बलदेवपुरा निवासी रामचंद्र गुर्जर को रेस्क्ूय कर सुरक्षित कर निकाला गया। कुछ लोगों ने भोजन व ठहरने की व्यवस्था बताते हुए आने से मना कर दिया। इस दौरान देईखेड़ा थाना प्रभारी अशोक कुमार मीणा, हलका पटवारी दुर्गालाल प्रजापत, घाट का बराना पटवारी पूरणमल गुर्जर, सरपंच राजेंद्र कुमार मौजूद रहे। इधर नगरपालिका के वार्ड 3 भावपुरा व वार्ड एक अड़ीला मालियों की बस्ती में पानी भरा हुआ है। शनिवार को विधायक चन्द्रकान्ता मेघवाल व पूर्व जिला प्रमुख राकेश बोयत ने क्षेत्र का दौरा किया। अधिशासी अधिकारी हेमेन्द्र कुमार ने बताया कि प्रशासन लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया हैं। शनिवार को वार्ड 1,2,3, अड़ीला, भावपुराव तुर्किया बस्ती के लोग पार्षद सोनू मीणा के नेतृत्व में थाने पर पहुंचे और थानाधिकारी को ज्ञापन देकर बरसात से हुए नुकसान का सर्वे करवाने की मांग की।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/FS2q0gAA

📲 Get Bundi News on Whatsapp 💬