मंडी शुल्क जमा करने के लिए आए 22 लाख के चेक बाउंस, नोटिस

  |   Lakhimpur-Kherinews

लखीमपुर खीरी। सरकारी गेहूं खरीद करने वाली संस्था पीसीयू ने मंडी शुल्क भुगतान के लिए 22 लाख 66 हजार 363 रुपये के चेक मंडी परिषद को दिए थे। बैंक में भुगतान के लिए लगाने पर बाउंस हो गए हैं। मंडी परिषद की ओर से सचिव ने संस्था प्रबंधक को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। विधिक कार्रवाई की चेतावनी भी दी है।

वर्ष 2019- 20 में पीसीयू ने 38 क्रय केंद्र खोलकर 32096 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की थी। किसानों से खरीदे गए गेहूं का मंडी शुल्क का भुगतान किया जाना है। इसके एवज में पीसीयू ने लखीमपुर की राजापुर मंडी को 12.65 लाख रुपये का चेक दिया था। जिला सहकारी बैंक शाखा में चेक को भुगतान के लिए लगाया गया, तो खाते में पर्याप्त पैसा न होने से वह चेक बाउंस हो गया। इसी तरह पीसीयू ने पलिया मंडी को दो चेक 747184 रुपये और 254171 रुपये के चेक दिए थे। यह दोनों चेक भी बैंक में जाकर बाउंस हो गए। मंडी शुल्क जमा न होने से मंडी परिषद के अधिकारी तनाव में आ गए। सूत्र बताते हैं कि पीसीयू ने एफसीआई से मंडी शुल्क का भुगतान प्राप्त कर लिया है, लेकिन अफसर मंडी को भुगतान करने में जानबूझकर लापरवाही कर रहे हैं। चेक बाउंस होने के मामले को गंभीरता से लेते हुए मंडी सचिव रामबाबू शर्मा ने पीसीयू के जिला प्रबंधक को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। पीसीयू को शीघ्र भुगतान न होने पर विधिक कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई है। उधर, पीसीयू के जिला प्रबंधक ध्रुव कुमार ने चेक बाउंस की जानकारी होने से इंकार किया है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ISu-8QAA

📲 Get Lakhimpur Kheri News on Whatsapp 💬