रियो टिंटों से सबक, हीरा कंपनियां चाहती है पर्यावरण अनुमति के लिए मिले अतिरिक्त समय

  |   Bhopalnews

भोपाल। छतरपुर जिले के बंदर हीरा प्रोजेक्ट की प्रीबिड में शामिल हुई कंपनियां चाहती हैं कि उन्हें हीरा उत्खनन के लिए दी जाने वाली पर्यावरणीय अनुमति के लिए अतिरिक्त समय मिलना चाहिए।

कंपनियों ने लीज की अवधि को ५० साल से ज्यादा बढ़ाने की इच्छा भी जताई है। ६० हजार करोड़ के बंदर प्रोजेक्टर के लिए ५ अगस्त को हुई प्रीबिड में अडानी, वेदांता, फ्यूरा जेम्स, रूंगटा माइंस सहित एक दर्जन बड़ी कंपनियां शामिल हुई थीं।

बंदर हीरा प्रोजेक्ट को अंतरराष्ट्रीय हीरा कंपनी रियो टिंटो ने हाथ में लिया था, लेकिन पर्यावरणीय अनुमति नहीं मिलने के कारण उसने इस प्रोजेक्ट से हाथ खींच लिए थे। बंदर हीरा प्रोजेक्ट का कुल क्षेत्र फल 364 हेक्टेयर है। सरकार ने इसे 50 साल की लीज पर देने के लिए निविदा जारी की है।...

फोटो - http://v.duta.us/s8547gAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/PGZaIQAA

📲 Get Bhopal News on Whatsapp 💬