Alwar Mob lynching case: दलित समाज का धरना समाप्त, 3 दिन बाद पोस्टमार्टम का रास्ता साफ

  |   Rajasthannews

अलवर जिले (Alwar) में मॉब लिंचिंग में मारे गए हरीश जाटव (Harish Jatav Lynching Case) के पिता रत्तीराम जाटव की आत्महत्या (Suicide) के बाद पैदा हआ गतिरोध (deadlock) तीसरे दिन समाप्त हो गया है. जिला कलक्टर ने संघर्ष समिति को दरकिनार कर सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) के आश्वासन को पीड़ित परिवार तक पहुंचाया. उसके बाद बिना किसी लिखित मांगों को माने ही धरना समाप्त करवा दिया गया है. अब रत्तीराम जाटव के शव के पोस्टमार्टम की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

प्रशासन ने कोई लिखित समझौता नहीं किया

जिला कलक्टर इंद्रजीत सिंह ने बताया कि पीड़ित पक्ष की किसी भी मांग को नहीं माना गया है. लेकिन सरकार तक उनकी मांग को पहुंचाने और मामले की उच्च स्तरीय जांच का आश्वसन दिया गया है. प्रशासन ने कोई लिखित समझौता नहीं किया है. 5 मांगों में से एक भी मांग को पूरा करने का आश्वासन नहीं दिया है. जांच कितने दिन में पूरी होगी इसके लिए कोई समय सीमा तय नहीं की गई है. उन्होंने कहा प्रशासन पीड़ित परिवार को निजी कंपनी में नौकरी और सामाजिक संबल देने के लिए अपने स्तर पर सहयोग करेगा....

फोटो - http://v.duta.us/thmqAAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/KjXhcgAA

📲 Get rajasthannews on Whatsapp 💬