उत्तराखंड: लगातार हो रहा वन्य जीवों का शिकार! वन विभाग पर उठ रही उंगलियां

  |   Uttarakhandnews

उत्तराखंड में जहर खाने से एक साथ तीन तेंदुओं की मौत ने वन्यजीव प्रेमियों को सकते में डाल दिया है. इनका का बिसरा बरेली स्थिति आईवीआरआई (Indian Veterinary Research Institute IVRI LAB) की लैब में भेजा गया है. आरोप लगाए जा रहे हैं कि ये तेंदुए पोचिंग के शिकार हुए हैं. उत्तराखंड में वाइल्ड लाइफ पोचिंग के पहले से ही कई केस लंबित पड़े हैं. जिनमें वन विभाग अब तक कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं कर पाया. इससे भी विभाग पर उंगलियां उठ रही है.

वन्य जीवों के शिकार की आशंका?

उत्तराखंड वन विभाग में 2 अगस्त को उस समय हडकंप मच गया, जब पता चला कि तीन तेंदुए मृत पाए गए हैं. बताया गया कि तीनों की मौत जहर खाने से हुई है. इन तेंदुओं में से एक राजाजी टाइगर रिजर्व की रवासन रेंज में तो एक-एक तेंदुआ इससे लगे लैंसडाउन और हरिद्वार वन प्रभाग की रेंज में मरे पड़े मिले. संभावना ये है कि ये तेंदुए राजाजी टाइगर रिजर्व के ही रहे होंगे. इसी कारण जहर खाने के बाद वे आसपास ही मरे पड़े पाए गए. मृत तेंदुओं का बिसरा जांच के लिए बरेली भेजा गया है. वन विभाग की ओर से क्षेत्र में सघन कॉबिंग जारी है साथ ही पूरे गढ़वाल क्षेत्र में रेड अलर्ट घोषित कर दिया गया है. इस मामले में चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन से 15 दिनों के अंदर जांच रिपोर्ट मांगी गई है....

फोटो - http://v.duta.us/dSMN8wAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/k_QDZAAA

📲 Get uttarakhandnews on Whatsapp 💬