डॉक्टरों को काटना पड़ा मासूम का पैर,क्योंकि मां ने उठाया था ये बड़ा कदम

  |   Gwaliornews

ग्वालियर. मुरैना से एक सात महीने के बच्चे को लेकर रेलवे कर्मचारी शनिवार की रात में ट्रॉमा सेंटर पहुंचा। इस बच्चे का पैर ट्रेन के नीचे आने से पूरी तरह से खराब हो चुका था। रेलवे कर्मचारी भी इसे अस्पताल में भर्ती कराकर अपनी पहचान छिपाकर चला गया था। इसके बाद रात में डॉक्टरों ने मिलकर इस बच्चे को ब्लड चढ़ाकर रात भर बच्चे को बचाकर रखा। सुबह इस बच्चे को ऑपरेशन की जरूरत दिखी, लेकिन बच्चे के किसी भी परिजन के न होने से बच्चे की पहचान नहीं हो सकी।

मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. भरत जैन, अधीक्षक डॉ. अशोक मिश्रा और हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. आरएन बाजौरिया ने मिलकर बच्चे को बचाने के लिए ऑपरेशन करने का निर्णय लिया। डॉ. बाजौरिया की टीम ने बच्चे का सफल ऑपरेशन कर खराब हो चुके पैर को काटकर बच्चे को बचा लिया। डॉक्टरों के अनुसार मुरैना में एक महिला ट्रेन के आगे अपने दो बच्चों को लेकर आ गई थी। जिसमें महिला व एक बच्चा खत्म हो गया। दूसरे बच्चे को ग्वालियर लाया गया।...

फोटो - http://v.duta.us/HOO7vgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/1K74CQAA

📲 Get Gwalior News on Whatsapp 💬