Video: मंत्री बोले- जानदार-मजेदार और शानदार खेल है ये, भिलाई के प्रमोद ने जीता सरगुजा केशरी का खिताब

  |   Ambikapurnews

अंबिकापुर. दंगल में होनी वाली कुश्ती (Chhattisgarh Dangal) से शरीर तो बलवान होता ही है साथ ही मन मस्तिष्क को भी ऊर्जा मिलती है। आधुनिक खेलों के कारण परम्परागत खेल विलुप्त होने की स्थिति में आ गए हैं। इनको जीवित रखना हमारी जिम्मेदारी है। कुश्ती अपनी मिट्टी से जुड़े रहने का खेल है।

यह बातें सोमवार को सरगुजा कुश्ती महासंघ द्वारा शासकीय बहुद्देशीय उच्चतर माध्यमिक बालक विद्यालय में आयोजित दंगल प्रतियोगिता के दौरान खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री अमरजीत भगत ने कही।

उन्होंने कहा गांव के परम्परागत खेलों को सहेजना होगा। छत्तीसगढ़ खेलों की राजधानी बने और उसमें अम्बिकापुर केन्द्र में हो, यह खुशी की बात होगी। कबड्डी, खो-खो, कुश्ती (Chhattisgarh Dangal) का स्मरण करते हुए उन्होंने कहा कि यह जानदार, शानदार और मजेदार खेल है।...

फोटो - http://v.duta.us/sLUeaQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/LgC5SgAA

📲 Get Ambikapurnews on Whatsapp 💬