अयोध्या के संत बोले-रामायण, महाभारत और चारों वेद परम सत्य

  |   Uttar-Pradeshnews

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन (Lawyer Rajeev Dhawan) और महाभारत (Mhabharata) को काल्पनिक बताए जाने परअयोध्या के (Ayodhya) संतों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. अयोध्या के संतों का कहना है कि हमारे यहां कोई भी ग्रंथ काल्पनिक नहीं है. रामायण (Ramayana), महाभारत और चारों वेद परम सत्य है और ऋषियों के द्वारा लिखे गए हैं. उनका कहना है कि मुस्लिम पक्ष के पास कोई प्रमाण नहीं है लिहाजा वे सनातन धर्म के ग्रंथों को काल्पनिक बताने में जुटे हैं.

अयोध्या के संतों ने कहा कि हिंदू पक्ष के सभी प्रमाण कोर्ट में प्रस्तुत हैं. प्रमाण के आधार पर ही कोर्ट को निर्णय करना है. विवादित भूमि पर रामलला का स्वामित्व है. रामजन्मभूमि के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा कि मुस्लिम पक्ष घबराया हुआ है. इसलिए ग्रंथों को काल्पनिक बता रहा है. वरिष्ठ सदस्य राम जन्मभूमि न्यास कमल नयन दास ने कहा, "हमारे यहां सनातन धर्म में वेद प्रमाण हैं. यह राष्ट्र श्रीराम का है और यहां रहने वाले हिंदू और मुसलमान श्री राम के वंशज हैं. जो काल्पनिक बता रहे हैं उनकी दृष्टि बस यहीं तक है."...

फोटो - http://v.duta.us/zvh_FAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/d1n0wQAA

📲 Get UttarPradesh News on Whatsapp 💬