👉कैरेबियाई सरजमीं पर सबसे भारी साबित हुए 😲हनुमा विहारी

  |   क्रिकेट / Punjabcricket

भारत के युवा बल्लेबाज हनुमा विहारी अंतत: वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान अपनी छाप छोड़ने में कामयाब हो गए। घरेलू क्रिकेट में हैदराबाद का प्रतिनिधित्व करने वाले हनुमा विहारी कैरेबियाई दौरे पर सभी बल्लेबाजों पर भारी साबित हुए। उन्होंने सीरीज के दो टेस्ट मैच की 4 पारी में 96.33 की औसत से 289 रन बनाए।

इस दौरान उन्होंने 1 शतक और 2 शतक भी जड़ा। वो सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज रहे। उनके बाद दूसरे नंबर पर 271 रन के साथ अजिंक्य रहाणे रहे। इस तरह सीरीज का टॉप स्कोरर बनकर विहारी ने मैन ऑफ द सीरीज खिताब के लिए भी अपनी दावेदारी पेश कर दी।

विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे जैसे बल्लेबाजों के टीम में होने के बावजूद सीरीज का सबसे सफल बल्लेबाज बनाना अपने आप में विहारी के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। साल 2018 में इंग्लैंड के खिलाफ ओवल में डेब्यू करने वाले विहारी ने इससे पहले खेले 4 टेस्ट मैच में केवल एक अर्धशतक जड़ सके थे जो उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ अपनी पहली टेस्ट पारी में बनाया था। इसके बाद वो टीम के लिए जरूरत के समय पिच पर टिकने में तो सफल रहे लेकिन इस दौरान कोई बड़ी पारी नहीं खेल सके।

वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट की सीरीज में हनुमा विहारी ने शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने एंटिगा में खेले गए सीरीज के पहले टेस्ट की पहली पारी में 32 रन बनाए। लेकिन दूसरी पारी में उन्होंने शानदार खेल दिखाते हुए 93 रन जड़ दिए।

हनुमा दुर्भाग्यशाली रहे और 7 रन के अंतर से करियर का पहला टेस्ट शतक जड़ने से चूक गए। लेकिन इसके बाद उन्होंने हार नहीं मानी और अपने बेहतरीन फॉर्म को किंग्सटन भी में बरकरार रखा। किंग्सटन में उन्होंने पहली पारी में 111 रन की पारी खेलने के बाद दूसरी पारी में नाबाद 53* रन जड़ दिए।

हनुमा विहारी विदेशी सरजमीं नंबर 6 या उससे नीचे बल्लेबाजी करते हुए एक टेस्ट में शतक और अर्धशतक जड़ने वाले पांचवें भारतीय बन गए हैं। उनसे पहले सचिन तेंदुलकर ने 29 साल पहले इंग्लैंड के खिलाफ मैनचेस्टर टेस्ट की पहली पारी में 68 और दूसरी में 119* रन बनाए थे।

यहां पढ़ें पूरी खबर-http://v.duta.us/kgc9jQAA

📲 Get क्रिकेट on Whatsapp 💬