संत ललितप्रभ सागर ने कहा कि संवत्सरी विश्व मैत्री का पवित्र पर्व है

  |   Jodhpurnews

जोधपुर. राष्ट्र संत ललित प्रभ सागर ( Rashtrasant Mahopadhyay Lalitprabh Sagar ) ने कहा कि संवत्सरी ( Samvatsari Parva Festival ) विश्व मैत्री का पवित्र पर्व ( festival of world friendship ) है। गलती सुधारने वाला इंसान जीवन मधुर बना देता है। वे सोमवार को गांधी मैदान ( Gandhi Maidan ) में पर्युषण पर्व ( paryushan ) के आठवें दिन हजारों श्रद्धालुओं को संवत्सरी का रहस्य व आलोयणा’ विषय पर संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यह भाई-भाई, सास-बहू, देराणी-जेठाणी, पिता-पुत्र और पड़ोसी-पड़ोसी को आपस में बन चुकी दीवारें हटा कर निकट आने की प्रेरणा देता है। जो व्यक्ति संवत्सरी पर्व मनाने के बावजूद मन में किसी के प्रति वैर-विरोध या थोड़ी-सी भी प्रतिशोध की भावना रखता है, उसके सारे धर्म-कर्म-पुुण्य निष्फल हो जाते हैं। धर्म की नींव है टूटे हुए दिलों को जोडऩा व जुडऩा है।...

फोटो - http://v.duta.us/isAxDgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/VnKGqAAA

📲 Get Jodhpur News on Whatsapp 💬