उत्तराधिकारी के सवाल पर बोले दलाई लामा- पद महत्वपूर्ण नहीं, धर्म का ज्ञान होना बेहद जरूरी

  |   Mathuranews

तिब्बत के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने कहा कि चीन में सबसे ज्यादा बौद्ध धर्म के अनुयायी और बौद्ध भिक्षु रहते हैं, लेकिन बौद्ध धर्म के साक्ष्य और प्रमाण सबसे अधिक भारत में ही देखने को मिलते हैं। वो सोमवार को मथुरा के महावन स्थित रमणरेती आश्रम में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे।

उत्तराधिकारी के बारे में पूछे जाने पर दलाई लामा ने कहा कि उन्होंने तो 1969 में ही कह दिया था कि दलाई लामा का पद महत्वपूर्ण नहीं है, जितना यह महत्वपूर्ण है कि बौद्ध धर्म के अनुयायियों को बौद्ध धर्म का अधिकतम ज्ञान हो।

उन्होंने कहा कि बौद्ध संस्थाओं में लगभग 10 हजार और हिमालयी क्षेत्र में 6 हजार विद्यार्थी आज भी बौद्ध धर्म की शिक्षा ग्रहण करते हैं। बौद्ध धर्म की शिक्षा का अनुसरण करने के साथ अगर तार्किक दृष्टि से उसे समझा जाएगा तो वो अधिक प्रभावी होगा।...

फोटो - http://v.duta.us/V0117gAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/GMVoAgAA

📲 Get Mathura News on Whatsapp 💬