उमरी में खुलेगी अत्याधुनिक गौशाला, डेढ़ एकड़ में विकसित होगा चारागाह

  |   Satnanews

सतना. जिले में प्रस्तावित 45 गौशालाओं के लिए भूमि का आवंटन न होने के कारण 30 से अधिक गौशालाओं का निर्माण अधर में लटका है। मामले को गंभीरता से लेते हुए कलेक्टर ने गौशाला निर्माण के लिए भूमि आवंटन के कार्य में तेजी दिखाई है। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट सतेन्द्र सिंह द्वारा रघुराजनगर तहसील के मौजा उमरी की शासकीय आ.नं. 279 रकबा 7.507 हे. भूमि का अंश रकबा 2 हे. में से 1 एकड़ भूमि गौशाला निर्माण के लिए तथा शेष भूमि चारागाह विकास के लिए आरक्षित की गई है।

बिरसिंहपुर तहसील के मौजा नयागांव की शासकीय आ.नं. 1686/1/क रकबा 6.247 हे., आ.नं. 1656/3 रकबा 1.259 हे., आ.नं. 1657/1 रकबा 2.460 हे., आ.नं. 1658 रकबा 0.308 हे. कुल किता चार कुल रकबा 10.274 हे. में से 1 एकड़ भूमि गौशाला निर्माण के लिए तथा 5 एकड़ भूमि चारागाह विकास के लिए तथा मौजा पगारखुर्द की शासकीय आ.नं. 14 रकबा 6.123 हे. भूमि का अंश रकवा 4.500 हे. में से 1 एकड़ भूमि गौशाला निर्माण तथा शेष भूमि चारागाह विकास के लिए आरक्षित की गई है। आरक्षित भूमि का इंद्राज शासकीय अभिलेख में कराने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को निर्देश दिए गए।

फोटो - http://v.duta.us/y2iG0AAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/skfWSAAA

📲 Get Satna News on Whatsapp 💬