कौशाम्बी: सामूहिक दुष्कर्म में दो दरोगा लाइन हाजिर

  |   Kaushambinews

सरायअकिल (कौशाम्बी)। कोतवाली इलाके की एक किशोरी के साथ हुई सामूहिक दुष्कर्म की घटना में दो दरोगाओं को एसपी प्रदीप गुप्ता ने लाइन हाजिर कर दिया। मामले में इंस्पेक्टर की भूमिका की जांच के लिए सीओ को निर्देश दिया गया है। आरोप है कि पुलिस ने पीड़ित लड़की के पिता को ही हवालात में डाल दिया था, जिससे आक्रोशित लोगों ने थाने का घेराव किया था। घटना के बाद से कस्बे में तनाव का माहौल है।

सरायअकिल कोतवाली इलाके की एक 14 वर्षीय अनुसूचित जाति की किशोरी शनिवार दोपहर करीब डेढ़ बजे घोसिया गांव मवेशियों के लिए घास काटने गई थी। इसी दौरान घोसिया गांव में ही रहने वाले तीन युवकों ने किशोरी के साथ दुष्कर्म किया। इतना ही नहीं दरिंदों ने किशोरी का अश्लील वीडियो भी बनाया। किशोरी के शोर मचाने पर ग्रामीणों ने दौड़ाकर एक आरोपी नाजिम की पिटाई करने के बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया था, जबकि दो आरोपी भाग निकलने में कामयाब हो गए थे। इस घटना को लेकर जमकर बवाल हुआ। आक्रोशित लोगों ने एसपी प्रदीप गुप्ता के सामने पथराव किया। जवाब में पुलिस को भी लाठियां भांजनी पड़ी। मामले में पुलिस ने पीड़ित किशोरी की मां की तहरीर पर घोसिया गांव के नाजिम और सगे भाई छोटका व बड़का के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। एसपी ने घटना के दूसरे दिन रविवार को हल्का के उप निरीक्षक दिलीप गुप्ता और एचसीपी रामनाथ यादव को लाइन हाजिर कर दिया है। इसके अलावा सीओ सिटी को इंस्पेक्टर मनीष पांडेय की भूमिका की जांच करने का निर्देश दिया है। बताते चलें कि किशोरी के पिता का आरोप था कि घटना की शिकायत लेकर जब वह कोतवाली पहुंचा तो पुलिस ने उल्टा उसके साथ मारपीट कर हवालात में डाल दिया। बाद में भीड़ के हंगामा करने पर उसे छोड़ा गया।...

फोटो - http://v.duta.us/d9zhbwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/wDOCPQAA

📲 Get Kaushambi News on Whatsapp 💬