चंद्रयान-2: इसरो चीफ सिवन👤 के दावे पर उठे सवाल❓

  |   Hindielections / समाचार

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी के चीफ के. सिवन ने दावा किया था कि चंद्रयान-2 मिशन में हमें 98 फीसदी सफलता मिली। उन्होंने कहा था कि विक्रम लैंडर और प्रज्ञान रोवर से संपर्क नहीं हो पाया है, लेकिन चंद्रयान-2 का आर्बिटर सही काम कर रहा है और 7 साल तक चांद से हमें तस्वीर भेजता रहेगा। इसरो चीफ के इस दावे पर देश के कई वरिष्ठ वैज्ञानिकों ने सवाल उठाए हैं।

एक वरिष्ठ वैज्ञानिक ने कहा कि बिना गंभीर आत्मनिरीक्षण के ऐसे बयान हमें दुनिया के सामने हंसी का पात्र बना देंगे। इसरो के सूत्रों की मानें तो चंद्रयान-2 का विक्रम लैंडर चंद्रमा की सतह पर तेजी से गिरा और क्रैश हो गया। अब उससे संपर्क होना नामुमकिन है। इसरो चेयरमैन के सलाहकार तपन मिश्रा ने सोशल मीडिया पर एक लेख पोस्ट किया है। इसमें उन्होंने इसरो चीफ के सिवन का नाम लिए बगैर उनके नेतृत्व पर सवाल उठाए हैं। मिश्रा ने लिखा, ‘लीडर हमेशा प्रेरित करते हैं, वे मैनेज नहीं करते।

वहीं, एक अन्य मून मिशन के वैज्ञानिक ने बगैर नाम लिए आरोप लगाया कि इसरो के वर्तमान नेतृत्व ने चंद्रयान-1 मिशन में काम करने वाले सक्षम लोगों को इस बार चंद्रयान-2 के मिशन से पहले हटा दिया। उन्होंने कहा कि जो लोग चंद्रयान-1 के हिस्सा भी नहीं रहे, उन्हें इस मिशन में शामिल किया गया और वे अब विशेषज्ञों की टीम शामिल होकर देश के चंद्र मिशन में महत्वपूर्ण फैसले ले रहे हैं।

यहां पढ़ें खबर- http://v.duta.us/K_9GlQEA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬