तीर्थ पुरोहित दंपति की हत्या में चार नहीं छह बदमाश थे शामिल

  |   Varanasinews

वाराणसी। सरायगोवर्धन निवासी पिशाचमोचन के तीर्थ पुरोहित कृष्णकांत उपाध्याय और उनकी पत्नी ममता की हत्या में चार नहीं छह बदमाश शामिल थे। घटनास्थल के आसपास मौजूद रहे लोगों से पूछताछ के आधार पर यह जानकारी पुलिस टीमों ने जुटाई है। पुलिस के अनुसार मुख्य आरोपी राजेंद्र और उसके बेटे रजत के हाथ में पिस्टल थी। राजेंद्र की पत्नी पूजा और तीन अन्य आरोपियों के हाथ में चापड़ जैसा धारदार हथियार था।

उधर, शनिवार की दोपहर से रविवार की देर रात तक वारदात के मुख्य आरोपी राजेंद्र के 17 करीबियों से पुलिस टीमों ने पूछताछ की। हालांकि चारों नामजद आरोपियों में से किसी एक का भी पता नहीं लगा। नामजद चारों आरोपियों की तलाश में पुलिस टीमों की छापेमारी बनारस, गाजीपुर, बलिया और बिहार के बक्सर, भभुआ सहित अन्य जिलों में जारी है। पुलिस प्रकरण के नामजद आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्रवाई की तैयारी में है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/cfYjtgAA

📲 Get Varanasi News on Whatsapp 💬