नोटिस मिलने से 42 ग्राम प्रधानों में हड़कंप

  |   Kannaujnews

जिले की 42 ग्राम पंचायतों में विकास कार्यों में हुए खर्च का ऑडिट होने के बाद करीब 20 करोड़ रूपये का हिसाब न मिलने के मामले में सभी पंचायतों को नोटिस भेजा गया है।

जिसके बाद से प्रधानों में हड़कंप मचा हुआ है। रिकवरी से बचने के लिए प्रधानों ने विभाग, अधिवक्ताओं व इसके दांव-पेंच जानने वालों के चक्कर लगाना शुरू कर दिया है।

ऑडिट में सबसे अधिक उमर्दा ब्लाक की 17 ग्राम पंचायतें फंसी है। इसके बाद सदर ब्लाक की 15 और सौरिख ब्लाक की नौ ग्राम पंचायते हैं। छिबरामऊ ब्लाक की एक ग्राम पंचायत भी शामिल हैं।

गड़बड़ी में सिर्फ प्रधान ही नहीं इनके सचिव भी फंसेंगे। ऑडिट टीम ने भेजी रिपोर्ट में साफतौर पर पंचायत अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया है। रिपोर्ट में कहा है कि गांव के पंचायत सचिवों की जिम्मेदारी है कि विकास कार्य में लगने वाली निर्माण सामग्री की खरीद का बिल, बाउचर लें, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/kSuPPgAA

📲 Get Kannauj News on Whatsapp 💬