पाकिस्तान से इसलिए भारत पहुंच गई टिड्डी

  |   Jalorenews

खुशालसिंह भाटी

जालोर. इस साल मई और जून में पाकिस्तान से भारत में टिड्डी दल के प्रवेश के बाद नियंत्रण दल ने उन पर काबू पा लिया था। चूंकि इस दौरान खेतों में फसलें नहीं थी इसलिए किसी तरह का नुकसान भी नहीं हुआ था। लेकिन अब बड़ी तादाद में बीकानेर, फलौदी, बाड़मेर के रास्ते भारत में पहुंचे मरु टिड्डी के बड़े दल ने परेशानी खड़ी कर दी है। चूंकि गुजरात सीमा क्षेत्र तक जालोर मंडल का विस्तार है इसलिए इस खतरे से जालोर टिड्डी मंडल भी अछूता नहीं है। फिलहाल टिड्डी नियंत्रण दल सक्रिय है, लेकिन शुरुआती दौर में बड़ा टिड्डी दल भारत में बीकानेर, बाड़मेर, जैसलमेर और फलौदी के रास्ते खेतों पहुंच चुका है, जिससे फसलों को नुकसान भी पहुंचाया। देश में टिड्डी नियंत्रण के 10 सर्किल है, जिसमें जालोर भी एक है। मई और जून में जालोर में भी टिड्डी की संख्या नजर आई थी, जिसके बाद नियंत्रण दल ने काबू पा लिया था। अब एक बार फिर से भारत में मरु टिड्डी का प्रवेश हुआ है तो जालोर में भी नुकसान की आशंका है। स्थितियों पर प्रशासन और कृषि विभाग नजर रखे हुए हैं। हालांकि वर्तमान में जालोर का एक दल बीकानेर के सीमावर्ती क्षेत्र में हालात विकट होने से वहां भी तैनात है। इस दल में शामित सहायक निदेशक का कहना है कि जालोर जिले में हालात बिगड़ते हैं तो दल यहां भी पहुंच जाएगा।...

फोटो - http://v.duta.us/I6XLvAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/e3JkNwAA

📲 Get Jalore News on Whatsapp 💬