परोपकार के लिए प्राप्त हुआ मानव शरीर: गंगा

  |   Udhampurnews

उधमपुर। चबूतरा बाजार स्थित महाजन हाल में आयोजित साप्ताहिक श्रीमद्भागवत कथा रविवार को भंडारे के आयोजन के संपन्न हुई। अंतिम दिन भी भक्ति रसावतार गंगा मां से कथा सुनने के लिए काफी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे थे। अंतिम दिन उन्होंने प्रवचनों में कहा कि भगवान श्री कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को उंगली पर उठाकर बृजवासियों का उद्धार किया था। उन्होंने संदेश दिया था कि जो भी प्रभु के आसरे में रहते हैं उनका प्रभु कभी नुकसान नहीं होने देते हैं। उन्होंने विवाह का प्रसंग सुनाते हुए कहा कि रुकमणि साक्षात लक्ष्मी का स्वरूप हैं, जो भगवान श्री कृष्ण की हैं और हमेशा रहेंगी। उन्होंने कहा कि मानव शरीर अपने लिए नहीं बल्कि परोपकार करने के लिए प्राप्त हुआ है। कथा के संपन्न होने पर भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालुओं ने हिस्सा लेकर प्रसाद ग्रहण किया।...

फोटो - http://v.duta.us/0DCKewAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Dfv20AAA

📲 Get Udhampur News on Whatsapp 💬