प्रेम विवाह के बाद मायके आई युवती को परिजन ने बंधक बनाया

  |   Pilibhitnews

दूसरे समुदाय के युवक से प्रेम विवाह करने के बाद मायके पहुंची युवती को बंधक बना लिया। उसे ससुराल न जाने के लिए धमकाया गया। ढाई माह बाद मौका मिलने पर युवती चुपचाप घर से निकल गई तो मायके वालों ने रास्ते में पकड़कर पिटाई कर दी। सूचना मिलने पर पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले आई। थाने पहुंचे पति ने युवती से कोर्ट मैरिज के कागजात दिखाए। पुलिस ने युवती को उसके पति के सुपुर्द कर दिया।

मूलरूप से अमरिया क्षेत्र की रहने वाली 25 वर्षीय युवती ने बताया कि उसका परिवार शहर में बस गया है। वह पूरनपुर के एक कॉलेज से बीटेक कर रही थी। वहीं बंडा (शाहजहांपुर) निवासी दूसरे समुदाय का एक युवक पढ़ता था। वहीं दोनों की मुलाकात हुई, जो बाद में प्रेम प्रसंग में बदल गई। 27 फरवरी को युवती ने घर से जाने के बाद युवक से कोर्ट मैरिज कर ली थी। इधर, मायके वालों ने युवती की सुनगढ़ी थाने में गुमशुदगी दर्ज करा दी गई। दस जुलाई को युवती अचानक अपने मायके पहुंच गई। आरोप है कि कुछ दिन रहने के बाद उसने पति के घर जाने को कहा तो मायके वाले गुस्सा गए और उसे बंधक बना लिया। उस पर नजर रखी जाने लगी और घर से बाहर नहीं निकलने दिया। ससुराल जाने को कहने पर उसे पीट जाने लगा। शनिवार रात दस बजे के मौका मिलने पर युवती चुपचाप मायके से निकलकर भागी। मगर टनकपुर हाईवे पर नेहरू पार्क के पास पहुंचने पर उसे पीछे से पहुंचे मायके वालों ने पकड़ लिया और पिटाई कर दी। राहगीरों से सूचना मिलने पर कोतवाल श्रीकांत द्विवेदी मौके पर जा पहुंचे और युवती को कोतवाली ले गए। उसके पति को भी बुला लिया गया। उसने कोर्ट मैरिज के कागजात दिखाए। युवती ने भी पति के संग जाने की बात कही। हालांकि मायके वालों का कहना था कि युवती ससुराल वालों के प्रताड़ित करने से उनके पास आई थी। उन्होंने बंधक बनाने का आरोप निराधार बताया। सीओ सिटी धर्म सिंह मार्छाल ने बताया कि युवती को उसके बयान लेकर पति की सुपुर्दगी में दे दिया है। हालांकि युवती ने मायके वालों पर किसी कार्रवाई करने से इनकार कर दिया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/n_DQnQAA

📲 Get Pilibhit News on Whatsapp 💬