बाघिन की मौत के मामले में लापरवाही पर दरोगा निलंबित

  |   Pilibhitnews

दो महीने पहले पीलीभीत में ग्रामीणों ने बाघिन को पीटकर मार डाला था

पीलीभीत। दियोरिया रेंज के मटहेना गांव में जंगल से सटे इलाके में बाघिन ने ग्रामीणों को घायल कर दिया था जिससे गुस्साई भीड़ ने बाघिन को पीटकर मार दिया था। इस मामले में विभागीय लापरवाही भी सामने आई। जांच में क्षेत्रीय वन दरोगा दिनेश गिरी की गश्त में लापरवाही मिलने पर उसे निलंबित कर दिया गया है, जबकि रेंजर के खिलाफ कार्रवाई के लिए रिपोर्ट तैयार कर शासन को भेजी जा रही है।

टाइगर रिजर्व की दियोरिया रेंज से सटे मटेहना गांव के कुछ ग्रामीण 24 जुलाई को जंगल सीमा में पहुंच गए थे। वहां पहले से मौजूद बाघिन ने ग्रामीणों पर हमला कर दिया था। इससे नौ लोग घायल हो गए थे। बाद में एक ग्रामीण की मौत हो गई थी। हमले से गुस्साए ग्रामीण लाठी-डंडे और धारदार हथियार लेकर मौके पर पहुंच गए और बाघिन की घेराबंदी कर पिटाई शुरू कर दी। बाद में टाइगर रिजर्व के अफसर, पुलिस और प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची। गंभीर रूप से घायल बाघिन मौके पर तड़पती रही। करीब दस घंटे बाद बाघिन ने दम तोड़ दिया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में धारदार हथियारों के वार से बाघिन की मौत की पुष्टि हुई थी। वहीं अब आई विसरा रिपोर्ट के मुताबिक बाघिन के शरीर में जहर भी पहुंचा था।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Jvo6NAAA

📲 Get Pilibhit News on Whatsapp 💬