रिश्वत लेते हुए वीडियो हुआ वायरल, एडीओ समाज कल्याण पर एफआईआर

  |   Bulandshahrnews

रिश्वत लेते हुए वीडियो हुआ वायरल, एडीओ समाज कल्याण पर एफआईआर

सिकंदराबाद । रिश्वत लेते हुए एडीओ समाज कल्याण के वीडियो वायरल मामले में जिला समाज कल्याण अधिकारी ने भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज कराई है।

ग्राम नगलाबंशी निवासी मुकेश पुत्र इंद्रपाल सिंह ने मुख्यमंत्री, डीएम को भेजे गए शिकायती पत्र के माध्यम से बताया था कि वह दिव्यांग है। उसके पिता की मौत हो चुकी है। अपनी विधवा मां सावित्री देवी की विधवा पेंशन बनवाने के लिए वह कुछ दिन पूर्व सिकंदराबाद ब्लॉक स्थित एडीओ समाज कल्याण के कार्यालय पर गया था। जब वह विधवा पेंशन का फार्म जमा करने के लिए एडीओ समाज कल्याण के पास पहुंचा तो उसने पेंशन बनाने के लिए रिश्वत की मांग की। रिश्वत देने से मना करने पर फार्म जमा करने के लिए उससे 14 दिन तक ब्लॉक के चक्कर लगवाए गए। बताया कि एडीओ समाज कल्याण के दफ्तर के चक्कर लगाने के दौरान उसने वहां पेंशन बनवाने के लिए आने वाने अन्य लोगों को पेंशन के लिए रिश्वत देते हुए वीडियो बना ली। बताया कि छह सितंबर को तहसील, राजस्व आपदा अधिकारी को वीडियो भेजकर शिकायत की। शिकायत किए जाने की जानकारी मिलने पर एडीओ ने कुछ लोगों को उसके घर पर भेजकर शिकायत वापस लेने के लिए दबाव बनाया। शिकायत वापस नहीं लेने पर बृहस्पतिवार को उसे फोन कर झूठे केस में फंसाने की धमकी दी। जिला समाज कल्याण अधिकारी नगेंद्रपाल सिंह ने बताया कि डीएम के निर्देश पर प्रकरण की जांच की गई। जांच के दौरान मुकेश ने एडीओ समाज कल्याण मथुरेश नरायन पर विधवा पेंशन के नाम पर सौ रूपये की रिश्वत लेने का आरोप लगाया। वही एडीओ ने आरोप को निराधार बताया। जिला समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि वीडियो में प्रथम दृष्टया एडीओ दोषी प्रतीत होते है। एडीओ के खिलाफ कोतवाली सिकंदराबाद में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। बता दें कि आरोपी एडीओ पर खुर्जा, अरनिया ब्लॉक का भी अतिरिक्त चार्ज है। निरीक्षक सूरज सिंह ने बताया कि एडीओ समाज कल्याण मथुरेश नरायन के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Z6FwLAAA

📲 Get Bulandshahr News on Whatsapp 💬