शराब विरोधी आंदोलन में कूदा मातृ सदन

  |   Haridwarnews

पर्वतीय क्षेत्रों में शराब के कारखाने लगाए जाने का विरोध कर रही देवभूमि सिविल सोसायटी के आंदोलन में मातृसदन भी कूद गया है। आंदोलन स्थल पर पहुंचकर मातृसदन के परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद आंदोलन को समर्थन दिया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि सरकार देवभूमि को कलंकित कर रही है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

देवभूमि सिविल सोसाइटी की ओर से शराब फैक्ट्री का लाइसेंस दिए जाने के विरोध में देवपुरा चौक के पास क्रमिक अनशन किया जा रहा है। 21वें दिन मातृसदन के परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद सरस्वती ने धरने पर पहुंचकर आंदोलन को समर्थन देने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि ब्रिटिश शासनकाल में शराब बंदी जैसे निर्णय लिए जा सकते हैं तो इस शासन में क्यों नहीं। उन्होंने कहा कि सरकार को देवभूमि की मान मर्यादा व पवित्रता ध्यान रखते हुए पूरे उत्तराखंड को शराब मुक्त बनाना चाहिए। स्वामी शिवानंद महाराज ने कहा कि बिहार और गुजरात में पूर्ण रूप से शराब बंदी हो सकती है तो देवभूमि में क्यों नहीं। त्यागी समाज कल्याण समिति के अध्यक्ष देवदत्त त्यागी, महामंत्री तरुण त्यागी, अशोक मणी त्यागी, डा. त्रिलोक सिंह के अलावा मैक्सी टैक्सी यूनियन के इकबाल सिंह, हरीश भाटिया, गिरीश भाटिया, संजय शर्मा, संजय गुप्ता आदि ने भी आंदोलन को समर्थन देने का ऐलान किया। इस मौके पर पंडित अधीर कौशिक, जेपी बडोनी, भागवताचार्य पवन शास्त्री, अशोकानंद महाराज, नीरज मिश्रा, रामकुमार दीक्षित, कमल मिश्रा, धर्मराज, ललित, रोहित शर्मा, सरिता पुरोहित, हरद्वारी लाल आदि मौजूद रहे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ndykYQAA

📲 Get Haridwar News on Whatsapp 💬