संदिग्ध अवस्था में घर के पास मिली किशोरी की लाश

  |   Anuppurnews

अनूपपुर। भालूमाड़ा थाना अंतर्गत ग्राम चुकान में 17 वर्षीय किशोरी लक्ष्मी शर्मा पिता लल्लूलाल शर्मा की संदिग्धावस्था में खून से लथपथ लाश पाई गई। सम्भावना है कि हत्यारे ने रात के समय हत्या कर शव को घर से लगभग 30 मीटर दूरी पर फेंक दिया होगा। गांव में किशोरी की हत्या की खबर के बाद सनसनी फैल गई। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। जहां मौके पर कोतमा एसडीओपी, भालूमाड़ा थाना पुलिस सहित फॉरेस्कि जांच की टीम ने पहुंचकर घटना स्थल का निरीक्षण किया, परिजनों सहित आसपास के लोगों से पूछताछ की। जिसके बाद पुलिस ने शव का पंचनामा तैयार कर पीएम उपरांत परिजनों को सौंप दिया। उप निरीक्षक त्रिवेणी प्रसाद मिश्रा ने बताया कि मृतिका लक्ष्मी शर्मा के पिता लल्लू लाल शर्मा ने शिकायत की है कि उसकी छोटी बेटी का हत्या हो गई है। पिता ने बताया कि २१ सितम्बर की रात वह और उनकी पत्नी साथ में दो बेटियां व दोनों बेटे ने खाना खाकर सो गए थे। घर में दोनों बच्चियां और दोनों बच्चे अलग अलग कमरे में सोए हुए थे। वह बाहर परछी पर सोए थे। सुबह लगभग 5 बजे जब जगने पर लक्ष्मी नजर नहीं आई। उन्होंने पत्नी से पूछा कि लक्ष्मी नहीं दिख रही है तो यह सम्भावना जताई कि शायद बाहर फ्रेश होने गई होगी। उसके बाद उसके पिताजी भी अपने काम में लग गए। लगभग 20 मिनट बाद जब लक्ष्मी वापस नहीं आई और किसी को कुछ पता नहीं चला तो उसकी तलाश की जाने लगी। जहां घर से बाहर निकल कर उसके बड़े बेटे ने तलाश करना प्रारंभ किया तो कुछ ही दूरी पर बिजली के ट्रांसफार्मर के पास झाडिय़ों के बीच उसे कपड़ा नजर आया। पास में जाकर देखा तो वहां पर लक्ष्मी का शव पड़ा हुआ था। आस पड़ोस के लोग भी एकत्र हो गए। परिजनों ने आशंका जताया है कि शायद लक्ष्मी की हत्या की गई है। पुलिस को भी शक है कि यह हत्या का मामला है। हालांकि कि पुलिस की प्रारंभिक जांच में लक्ष्मी के नाक व मुंह से खून निकल रहा था, साथ ही उसके सिर व गर्दन में कई स्थान पर जोरदार चोट के निशान भी पाए गए हैं। भालूमाड़ा पुलिस ने अपनी जांच जारी रखते हुए डॉक्टर से शार्ट पीएम की रिपोर्ट मांग की है, जो उन्हें शीघ्र मिल जाएगी। फिलहाल पुलिस लक्ष्मी की हत्या के कारणों के साथ जांच में जुटी है। घरवालों की जानकारी के अनुसार लक्ष्मी नवमी तक पढ़ाई करने के बाद छोड़ दी थी। वह घर पर ही रहती थी। जांच अधिकारी उपनिरीक्षक त्रिवेणी प्रसाद मिश्रा, एएसआई फूलमति अहिरवार, प्रमोद वर्मा, आरक्षक सत्यभान सिंह व ईश्वरचंद्र की टीम शामिल रही। विदित हो कि जिले में पिछले तीन माह के दौरान लगभग आधा दर्जन से अधिक हत्या की घटना सामने आई है।

फोटो - http://v.duta.us/8GnAVQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ptG_iQAA

📲 Get Anuppur News on Whatsapp 💬