हड़ताल पर गए बिहार के जूनियर डॉक्टर्स, अस्पतालों में स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराई

  |   Biharnews

पटना. बिहार में जूनियर डॉक्टरों (Junior Doctor) के हड़ताल (Strike) की वजह से मरीजों की मुश्किलें फिर से एक बार बढ़ गयी है. हड़ताल का असर पटना के पीएमसीएच (PMCH) समेत अन्य अस्पतालों में सुबह से ही दिखने लगा है, खासकर इमरजेंसी वार्ड (Emergency Ward) में मरीजों की सुध लेनेवाला कोई नहीं है. मरीज के परिजनों की मानें तो वार्ड में एक भी डॉक्टर मौजूद नहीं हैं जिससे मरीजों का इलाज हो सके ,ऐसे में भगवान भरोसे मरीजों का इलाज चल रहा है. इमरजेंसी के बाहर मरीजों के परिजन डॉक्टरों का इलाज कर रह

मरीजों की लगी भीड़

जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल का असर इमरजेंसी के साथ ओपीडी में भी दिख रहा है यहां सुबह से ही रजिस्ट्रेशन काउंटर पर मरीजों की लंबी कतार लगी है और हर कोई डॉक्टर के आने का इंतजार कर रहा है. आलम ये है कि ओपीडी में मरीज देखने का वक्त साढ़े 8 बजे से ही लेकिन साढ़े 8 बजे के बाद भी ओपीडी के स्किन विभाग का ताला नहीं खोला गया है. दूर-दूर से आये मरीजों को हड़ताल की जानकारी तक नहीं थी जिसकी वजह से मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है....

फोटो - http://v.duta.us/0im7WQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/xsiDpgAA

📲 Get Bihar News on Whatsapp 💬