हिमाचल में पहली बार ईडी के निशाने पर नशे के सौदागर, मांगा संपत्तियों का ब्योरा

  |   Shimlanews

हिमाचल में नशे के सौदागर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के निशाने पर आ गए हैं। ईडी ने पहली बार नशे के कारोबार से काली कमाई कर बनाई संपत्तियों को सीज करने की कवायद शुरू कर दी है। इस क्रम में ईडी ने पहली कार्रवाई शिमला के उस दंपती पर की है। इसे हाल ही में स्थानीय अदालत ने मादक पदार्थ अधिनियम के तहत दोषी करार देते हुए बीस-बीस साल कैद और दस-दस हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है।

ईडी ने राजस्व विभाग से दंपती की हिमाचल में मौजूदा संपत्तियों का पूरा ब्योरा मांगा है। साथ ही उसने तस्कर दंपती के बैंक खातों वाले बैंकों से भी उनका पूरी बैंक डिटेल मांगी है। दरअसल, शिमला की बालूगंज पुलिस ने 25 मार्च, 2016 को टुटू में दीपराम के आवास से 16 किलो चरस और अफीम बरामद की थी। इस घटना को लेकर पुलिस ने दीपराम, उसकी पत्नी ऊषा, मेहर सिंह, अमन ठाकुर और विपिन को गिरफ्तार किया था।...

फोटो - http://v.duta.us/erNjKgAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/zXrYRAAA

📲 Get Shimla News on Whatsapp 💬