Jyotirlinga Padyatra: ज्योतिर्लिंग पदयात्रा-नर्मदानंद बापजी की राष्ट्र धर्म विजय द्वादश का शुभारंभ

  |   Ratlamnews

रतलाम। Jyotirlinga Padyatra: राष्ट्र, धर्म, पर्यावरण के प्रति चेतना का संचार करने में हमारे संत सक्रिय हैं। भारतीय सनातन परंपरा में संतों का स्थान महत्वपूर्ण है। संत ही समाज को राह दिखाते हैं। जीव, जंतु, पेड़, पौधे, पर्यावरण, मिट्टी, पर्वत, पृथ्वी सभी में परमात्मा का अंश है। इनकी रक्षा करना ही परमात्मा की पूजा करना है। इन सभी से जीवन है। इनसे संस्कृति है, संस्कार है और इन सभी से समाज है। समाज में रहने वाले सभी को इनके प्रति निस्वार्थ भाव रखने चाहिए। हमारे पूज्यश्री नर्मदानंद बापजी भी इस दिशा में अग्रसर हैं। बापजी की राष्ट्रधर्म विजय द्वादश ज्योतिर्लिंग यात्रा सार्थक बने, यही मंगल कामना है।...

फोटो - http://v.duta.us/4ZCrPAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/u5JcfwAA

📲 Get Ratlam News on Whatsapp 💬