कड़ी चावल खिलाकर कर रहे कुपोषण दूर

  |   Damohnews

हटा. महिला बाल विकास द्वारा राष्ट्रीय पोषण आहार के तहत जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है, वहीं कुपोषण को दूर करने आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से पोषण आहार उपलब्ध कराया जा रहा है। पत्रिका ने गुरुवार को जायजा लिया तो आंगनबाड़ी केंद्रों में दर्ज संख्या से कम बच्चे मिले, वहीं कड़ी चावल परोसकर कुपोषण दूर करने का प्रयास होता दिखाई दिया।नगरीय क्षेत्र के आंगनबाड़ी केंद्रों का जायजा लिया तो पता चला कि कई आंगनबाड़ी केंद्र खाली हैं। कहीं पर सिर्फ न के बराबर बच्चे हैं। बच्चों की संख्या के मान से भोजन की एंट्री पूरी की जा रही है। जब दोपहर 12.30 बजे संजय वार्ड क्रमांक 136 पर जाकर देखा तो कुल दर्ज 66 बच्चों में से उपस्थिति शून्य पाई गई। कार्यकर्ता द्वारा बताया गया कि अभी-अभी बच्चे खाना खा कर चले गए। जबकि निर्धारित खाना का समय 12 से 1 के बीच का होता है। वहीं संजय वार्ड क्रमांक 96 कुल दर्ज 50 बच्चे उपस्थिति 20 पाई गई है। वहीं गौरीशंकर वार्ड क्रमांक 94 पर कुल दर्ज संख्या 55 उपस्थिति 12.40 पर संख्या शून्य पाई गई। चंडीजी वार्ड क्रमांक 127 पर कुल दर्ज संख्या 60 थी, लेकिन 12.45 पर बच्चों की उपस्थिति संख्या 0 पाई गई। वहीं गौरीशंकर क्रमांक 95 में बच्चों की दर्ज संख्या 50 उपस्थिति संख्या 15 मिली है। इसी प्रकार से नगरीय क्षेत्र के अन्य आंगनबाड़ी केंद्रों की भी स्थिति इससे बदतर है। भले ही केंद्र पर उपस्थिति कम हो, लेकिन मध्याह्न भोजन समूह संचालक द्वारा सभी आंगनबाड़ी केंद्रों में 90 प्रतिशत पत्रक में दर्ज की जाती है, साथ ही बच्चों को पोषण आहार उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। सुपरवाइजर अपने क्षेत्र की आंगनबाड़ी केंद्रों का नियमित दौरा नहीं करती हैं।

फोटो - http://v.duta.us/mUQYTwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Z4VgigEA

📲 Get Damoh News on Whatsapp 💬