कलेक्टर ने बनाई जांच टीम, अब पता चलेगा किसने पैसों के लिए दोबारा रची था विवाह

  |   Damohnews

दमोह. मुख्यमंत्री कन्या विवाह व मुख्यमंत्री निकाह योजनांतर्गत प्राप्त प्रकरणों की सूक्ष्म जांच कराने के निर्देश कलेक्टर तरूण राठी ने जिले के समस्त कार्यपालन अधिकारियों व मुख्य नगर पालिका अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने कहा है पंचायत व जनपद स्तरीय जांच दल अनिवार्य रूप से 10 दिवस में जांच कार्रवाई अभियान चलाकर कराएंगे। मुख्यमंत्री कन्या विवाह व मुख्यमंत्री निकाह योजनांतर्गत सिर्फ पात्र हितग्राहियों को ही योजना का लाभ प्राप्त हो।

यदि कोई पूर्व विवाहित या अन्यथा अपात्र व्यक्ति योजना का लाभ प्राप्त करने की कोशिश करता है अथवा प्राप्त करता है, तो उसके साथ शामिल अधिकारियों, कर्मचारियों के विरूद्ध नियमानुसार सख्त कार्रवाई की जाए। हितग्राहियों को नियमानुसार राशि भुगतान किए जाने से पूर्व सघन जांच कर यह सुनिश्चित कर लिया जाए कि हितग्राही योजना के प्रावधान अनुसार पात्रता की श्रेणी में आते हंै। उन्होंने निर्देशित किया है कि शासन निर्देशों के अनुपालन में जिन ग्राम पंचायतों, वार्डो के विवाह आवेदन पत्र हैं। उनकी सूक्ष्म जांच के लिए एक दल गठित किया जाए। ग्राम पंचायतों के पदस्थ सचिव व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता संयुक्त रूप से क्षेत्र के आवेदन पत्रों की जांच करेंगे। जांच के लिए बिंदु निर्धारित किए गए हैं। अपनी टीप अंकित करेंगे कि प्रकरण पात्र है अथवा नहीं। ग्राम पंचायत सचिव व आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा जांच के उपरांत जनपद में पदस्थ खंड विस्तार अधिकारी व समग्र सामाजिक सुरक्षा विस्तार अधिकारी प्रत्येक आवेदन पर अपनी संयुक्त अनुशंसा टीप देंगे व क्षेत्र के सभी आवेदनों पर टीम अंकित करने के उपरांत मुख्य कार्यपालन अधिकारी, मुख्य नगर पालिका अधिकारी अपना अभिमत टीप देंगे। इस प्रकार ग्राम पंचायत, वार्ड स्तर पर परीक्षण कार्रवाई के साथ समेकित सूची तैयार करेंगे व पात्र हितग्राहियों को भुगतान की कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे। अपात्र प्रकरणों की पृथक से सूची तैयार कर जिला कार्यालय को अग्रिम कार्रवाई के लिए प्रेषित की जानी होगी।

फोटो - http://v.duta.us/pl8YQAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/fAp9JwAA

📲 Get Damoh News on Whatsapp 💬