गणेशजी व गोपीनाथजी नहीं, श्रीमदन मोहन मंदिर है सबसे पुराना, आज भी अष्टधातु की मूर्ति की चमक बरकरार

  |   Sikarnews

सचिन माथुर, सीकर.

यदि आपसे कोई सीकर शहर के सबसे पुराने मंदिर ( ( The Oldest Temple of Sikar ) ) के बारे में पूछे तो जहन में फतेहपुरी गेट स्थित गणेश, रघुनाथ या गोपीनाथ मंदिर की तस्वीर उभरती होगी। लेकिन, ऐसा है तो अब से उन तस्वीरों की जगह राधा- कृष्ण की इस मूरत को अपने मन मंदिर में बसा लीजिए। क्योंकि यही वह मूर्ति है, जो सीकर के सबसे पहलेे मंदिर की सबसे पुरानी मूर्ति है। जो 332 साल पहले सीकर की स्थापना के समय राव राजा दौलत सिंह ( Rao Raja Daulat Singh ) सीकर लाए थे। यहां सुभाष चौक गढ़ के साथ ही उन्होंने वर्तमान गोपीनाथ मंदिर के पास श्रीमदन मोहन मंदिर की नींव रखी थी। जिसमें यह मूर्तियां अब भी विराजमान है। राधा अष्टमी पर इतिहास के साथ राधा-कृष्ण की यह मूर्ति पहली बार प्रकाशित की जा रही है। जिसकी चमक इसके चमत्कारों की तरह कम नहीं हुई है।...

फोटो - http://v.duta.us/clNBEwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/QtBduQAA

📲 Get Sikar News on Whatsapp 💬