जिन्होंने दिया ज्ञान, उन गुरुजनों को नमन कर बढ़ाया मान

  |   Jhansinews

जिन्होंने दिया ज्ञान, उन गुरुजनों को नमन कर बढ़ाया मान

झांसी। पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती बृहस्पतिवार को शिक्षक दिवस के रूप में मनायी गई। स्कूल कालेजों में हुए कार्यक्रमों में विद्यार्थियों एवं समाज के प्रबुद्ध वर्ग ने शिक्षकों का सम्मान किया। वक्ताओं ने कहा कि समाज की प्रगति में शिक्षकों का हमेशा योगदान रहा है। स्कूल-कॉलेज शिक्षकों के साथ ही जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में कोई खास हुनर या अनुभव देने वाले गुरुजनों का भी लोगों ने उनके घर जाकर पैर छुए और आशीर्वाद लिया। फेसबुक पर भी शिक्षकों के सम्मान में दिन भर पोस्ट किए गए।

बुंदेलखंड विश्वविद्यालय शिक्षक संघ की आमसभा एवं शिक्षक सम्मान समारोह विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग में हुआ। इसमें डॉ. वी पी खरे, प्रोफेसर देवेश निगम, प्रोफेसर प्रतीक अग्रवाल, पुनीत बिसारिया, डॉ. महेंद्र कुमार को सम्मानित किया गया। इस दौरान प्रो. एमएम सिंह, प्रो. आरके सैनी, डॉ. मुन्ना तिवारी, डॉ. अपर्णा राज, डॉ. डीके भट्टा, डॉ. सौरभ श्रीवास्तव, डॉ. अचला पांडेय, डॉ. इरा तिवारी, डॉ. विनीत कुमार, डॉ. नवीन चंद्र पटेल मौजूद रहे। विश्वविद्यालय के जन संचार एवं पत्रकारिता विभाग में विद्यार्थियों ने सभी शिक्षकों को तुलसी का पौधा देकर सम्मानित किया। डॉ. सीपी पैन्युली ने कहा कि आज छात्रों के ऊपर देश की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। इस अवसर पर समन्वयक डॉ. कौशल त्रिपाठी, उमेश शुक्ला, राघवेंद्र दीक्षित, अभिषेक कुमार सतीश साहनी, रजनीकांत वीरेंद्र अहिरवार मौजूद रहे। समाज कार्य विभाग में कोआर्डिनेटर नेहा मिश्रा, यतींद्र, मोहम्मद नईम, सत्यपाल सिंह, अनीता चौहान ने शिक्षक दिवस की महत्ता पर विचार प्रकट किए।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/czUaQwAA

📲 Get Jhansi News on Whatsapp 💬