जीवन जीने का सलीका सिखाते शिक्षक

  |   Shravastinews

श्रावस्ती। देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिवस गुरुवार को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया गया। इस दौरान विद्यालयों में कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। जहां छात्रों ने गुरुजनों को भेंट प्रदान कर उनका आशीर्वाद लिया। इस मौके पर वक्ताओं ने शिक्षक दिवस के महत्व के बारे में जानकारी दी।

शिक्षक दिवस पर इकौना के जगतजीत इंटर कॉलेज में प्रभारी प्रधानाचार्य घनश्याम की अध्यक्षता में कार्यक्रम आयोजित हुआ। इसकी शुरुआत पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के चित्र पर पुष्प अर्पित कर की गई।

इस दौरान शिक्षक रामबिहारी बाजपेई ने कहा कि देश में गुरु शिष्य परंपरा की संस्कृति रही है। जीवन में माता पिता का स्थान कोई नहीं ले सकता, क्योंकि वही हमें दुनिया में लाते हैं। हमारे पहले गुरु माता पिता ही हैं। लेकिन हमें जीवन जीने का असली सलीका शिक्षक ही सिखाते हैं।...

फोटो - http://v.duta.us/mvR5pQAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/yjvXEgAA

📲 Get Shravasti News on Whatsapp 💬