टांण के लोगों का खत्म नहीं हो रहा डॉक्टर का इंतजार

  |   Champawatnews

लधिया घाटी के दर्जनों गांवों के लोगों के इलाज के लिए टांण में अस्पताल तो खोला गया है लेकिन इसका लाभ लोगों को नहीं मिल पा रहा है। 33 महीने से यहां का अस्पताल डॉक्टरविहीन है। इस वजह से लोग अस्पताल के लाभ से वंचित है। इलाज के लिए यहां के लोग 99 किमी दूर चंपावत या लोहाघाट आने को मजबूर हैं।

लधिया घाटी से लगे गांव टांण में राजकीय एलोपैथिक अस्पताल है। लाखों रुपयों से बना यह अस्पताल भवन लंबे समय से किसी काम का नहीं है। टांण, साल, ककनई, खटोली, वैला, मछियाड़ सहित कई गांव के दो हजार से अधिक लोग इस अस्पताल पर आश्रित हैं। अस्पताल में दिसंबर 2016 से डॉक्टर नहीं है। फार्मेसिस्ट सुंदरनाथ और वार्ड ब्वाय राजेंद्र गिरि गोस्वामी के जरिए मरीजों को छिटपुट दवाएं मिल पाती हैं।...

फोटो - http://v.duta.us/izf3dAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/f0h7PAAA

📲 Get Champawat News on Whatsapp 💬