तीन सौ साल पुराना है अट्टावाला जैन मंदिर

  |   Firozabadnews

फिरोजाबाद। श्री दिगंबर जैन अट्टावाला मंदिर नगर के प्राचीनतम जैन मंदिरों में से एक है। यह मंदिर 300 साल पुराना है। सरकारी गजेटियर में भी इसकी प्राचीनता का उल्लेख है। अग्रवाल जैन समाज के लोगों ने इस मंदिर की स्थापना की थी। यह मंदिर एक टीले पर बनाया गया था। बाद में इसका जीर्णोद्धार होता गया। भगवान नेमिनाथ की मूलनायक अतिशयकारी प्राचीन प्रतिमा चमत्कारिक है।

चंद्रवाड़ उजडने़ के बाद जब शहर बसा तब यहां प्रमुख रुप से तीन मंदिर स्थापित हुए थे, इनमें अट्टावाला जैन मंदिर भी शामिल है। शहर के बीचोंबीच बने इस मंदिर की ख्याति प्राचीनता के कारण दूर-दूर तक है। नगर की सभी जैन शोभायात्रा इसी मंदिर से निकलती हैं। मूल वेदी पर पंचवालयति की पांच प्रतिमाओं (भगवान वासपूज्य, मल्लिनाथ, नेमिनाथ, पार्श्रवनाथ, महावीर भगवान) वाला नगर का यह एकमात्र मंदिर है। वैसे भगवान आदिनाथ और भगवान चंद्रप्रभु की दो और वेदियां भी हैं। जिनमें सैकड़ों साल पुरानी प्रतिमाएं हैं। इन प्राचीन प्रतिमाओं के कारण ही यह मंदिर पुरातत्व विभाग में भी दर्ज है।...

फोटो - http://v.duta.us/Aia6vwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/E_0BMAAA

📲 Get Firozabad News on Whatsapp 💬