नए ट्रैफिक नियम से मची खलबली, यूपी में दिखने लगा असर, एक महीने बाद तक पहुंची डीएल की वेटिंग

  |   Meerutnews

परिवहन विभाग के नए नियम भले ही अभी धरातल पर प्रदेश में लागू नहीं हुए हों, लेकिन इनका असर नजर आने लगा है। ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदकों की संख्या बढ़ गई है। ऑनलाइन आवेदन के बाद अब एक माह तक की वेटिंग मिल रही है। पहले दस दिन में ही या कभी आवेदन के दिन ही लाइसेंस बन जाता था। परिवहन कार्यालय पर आवेदकों की लाइन लगने लगी है।

एक सितंबर से जारी किए गए परिवहन विभाग के नए नियमों का असर दिखने लगा है। ड्राइविंग लाइसेंस नहीं मिलने पर जुर्माने की राशि बढ़ाकर पांच सौ से पांच हजार रुपये कर दी गई है। असर यह हुआ है कि लाइसेंस बनवाने के लिए परिवहन कार्यालय में लोगों की भीड़ लगनी शुरू हो गई है। एआरटीओ प्रशासन सुरेंद्र सिंह ने बताया कि लर्निंग लाइसेंस बनवाने के लिए पहले ऑनलाइन आवेदन करने पर दस दिन के अंदर टेस्ट का समय मिल जाता था, लेकिन आवेदनों की संख्या बढ़ने से यह समय बढ़कर एक माह तक पहुंच गया है। रोजाना अस्सी आवेदकों के ही टेस्ट लिए जाते हैं, जिस कारण वेटिंग और अधिक बढ़ने की संभावना है।...

फोटो - http://v.duta.us/Rg3P7QAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/o0IQJAAA

📲 Get Meerut News on Whatsapp 💬