पढ़े ऐसे गांव के बारे में जहा रोजाना लग जाता है लम्बा जाम

  |   Palinews

नाडोल. कस्बे से गुजरे रहे राज्यकृत मार्ग के संकरे होने और यहां प्रतिदिन लगने वाले जाम का दंश कस्बेवासियों के साथ यहां से गुजरने वाले यात्री भोग रहे हैं लेकिन कई सालों से लम्बित बाइपास अधिकारियों और जिम्मेदारों के मंथन में ही चल रहा है। इस बाइपास के निर्माण के लिए एक कदम भी आगे नहीं बढ़ाया गया है।

नाडोल कस्बे से निकलने वाले बाइपास सडक़ के लिए प्रशासनिक जिम्मेदार अभी तक लैंड एक्वायर्ड व गजट नोटिफि केशन की चर्चा में ही फं से हुए हैं। प्रस्तावित बाइपास सडक़ का निर्माण कार्य शुरू नहीं होने के कारण ग्रामीणों में रोष है। राज्यकृत मार्ग का कार्य पूर्ण हुए करीब 6 वर्ष हो गए लेकिन राजस्थान स्टेट रोड डवलपमेंट कॉर्पोरेशन के कार्मिक व सार्वजनिक निर्माण विभाग के जिम्मेदार अधिकारी बाइपास सडक़ का निर्माण करवाने में अपने कर्तव्य निष्ठा से परे हैं। यह जिम्मेदार अधिकारी नाडोल कस्बेवासियों के दर्द की अनदेखी कर रहे हैं। सडक़ निर्माण कंपनी ने कस्बे से करीब दो किलोमीटर दूर तक सडक़ निर्माण कर काम रोक दिया है। प्रस्तावित बाइपास का साइन बोर्ड भी लगा दिया लेकिन प्रस्तावित बाइपास अभी तक प्रशासनिक चर्चाओं में फं सा हुआ है। गौरतलब है कि राज्यकृत मार्ग का निर्माण कार्य राजस्थान स्टेट रोड डवलपमेंट कॉर्पोरेशन द्वारा 2012-13 में शुरू हो गया था जो गोमती से हेमावस तक 93 किलोमीटर की दूरी तय करता है। जोधपुर से उदयपुर को जोडऩे वाले मार्ग नाडोल कस्बे के मुख्य बाजार से होकर गुजरता है। कस्बे में राज्यकृत मार्ग पर ग्रामीणों द्वारा अतिक्रमण करने के कारण सडक़ संकरी हो गई है। यातायात का अधिक दबाव होने के कारण कस्बे में आए दिन जाम की स्थिति हो जाती है। जिसके कारण वाहन चालक व राहगीरों को परेशान होना पड़ता है।...

फोटो - http://v.duta.us/v8WR5QAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/mG4s9AEA

📲 Get Pali News on Whatsapp 💬