माथे पर लगा कलंक धोने के लिए सेना के जवान ने 9 साल तक लड़ी कानूनी जंग

  |   Indorenews

इंदौर. एक सैनिक ने अपने माथे पर लगे महिला से छेड़छाड़ ( eve teasing ) का कलंक धोने के लिए करीब 9 साल तक कानूनी लड़ाई लड़ी। निचली अदालत से एक साल की सजा सुनाए जाने के बाद भी सैनिक ने हार नहीं मानी और हाई कोर्ट ( high court ) से अपना सम्मान वापस हासिल किया। कोर्ट ने उन पर लगाए गए महिला से सार्वजनिक स्थान पर छेड़छाड़ करने के आरोप को गलत पाते हुए बरी करने के आदेश दिए हैं।

सैनिक के खिलाफ लिखाई गलत रिपोर्ट

हाई कोर्ट ने अपने आदेश में यह भी लिखा है कि सेना के जवाब के लिए अनुशासन और कर्तव्य परायणता पहला गुण होता है, देश के लिए समर्पित एक सैनिक सार्वजनिक स्थान पर इस तरह की हरकत नहीं कर सकता। इस केस में ऐसे कई तथ्य हैं जिनसे साबित होता है कि सैनिक के खिलाफ गलत रिपोर्ट लिखाई गई थी। पूरा मामला महू में रहने वाले सैनिक कमल टांक का है। कमल कश्मीर बॉर्डर पर ड्यूटी कर रहे हैं।...

फोटो - http://v.duta.us/6v6KfwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/FdFOEAAA

📲 Get Indore News on Whatsapp 💬