मरीज की मौत के बाद भिड़ गये परिजन और डॉक्टर

  |   Bankanews

गया : मगध मेडिकल की इमरजेंसी गुरुवार को अखाड़े में तब्दील हो गयी. जानकारी के अनुसार, फतेहपुर की जबा कुसुम देवी को खांसी-सर्दी व सांस लेने में दिक्कत की शिकायत पर एक दिन पहले इमरजेंसी में भर्ती कराया गया था.

गुरुवार को उनकी मौत हो गयी. उनके परिजन संतोष कुमार का आरोप है कि गुरुवार को ही सीनियर डॉक्टर ने मरीज को आइसीयू में रखने की सलाह दी थी. लेकिन, उसे आइसीयू में नहीं भेजा गया.

इमरजेंसी वार्ड में ही सिस्टर ने कई तरह के इंजेक्शन दे दिये, इस कारण महिला की जान चली गयी. उन्होंने बताया कि मौत के बार उन्होंने महिला के पोते प्रद्मुन कुमार को खबर दी. प्रद्मुन ने पहुंचते ही यहां इमरजेंसी के गेट का शीशा तोड़ दिया. उसके बाद यहां के डॉक्टर उग्र हो गये और मृतक के परिजनों से हाथापाई शुरू कर दी. देखते ही देखते अस्पताल का इमरजेंसी वार्ड रण क्षेत्र में तब्दील हो गया....

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/54BHCAAA

📲 Get Banka News on Whatsapp 💬