शिक्षक की गोद में प्रलय और निर्माण दोनों : एनपी सिंह

  |   Azamgarhnews

आजमगढ़। माध्यमिक और बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से शिक्षक दिवस पर शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन राहुल प्रेक्षागृह में किया गया। मुख्य अतिथि राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त शिक्षक चन्द्रमान यादव रहे। डीएम एनपी सिंह और चार राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त शिक्षकों ने दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ किया। 22 ब्लाकों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 44 बेसिक शिक्षक को सम्मानित किया गया। 121 बेसिक शिक्षा और 36 माध्यमिक शिक्षा के सेवानिवृत्त शिक्षकों को भी सम्मानित किया गया।

डीएम ने कहा कि शिक्षक की गोद में प्रलय एवं निर्माण दोनों है। शिक्षक का कार्य बच्चों को अन्धकार से प्रकाश की ओर बढ़ाना है। व्यक्ति की सबसे बड़ी पूंजी ज्ञान है और जो ज्ञान संवेदना रहित है, वह रेगिस्तान की तरह होता है। जिलाधिकारी ने कहा कि शिक्षा समावेशी होनी चाहिए, शिक्षक का कार्य चरित्र निर्माण में सहयोग करना है। उन्होंने शिक्षकों से कहा कि आपका उद्देश्य बच्चों में यह शिक्षा देना है कि उठो जागो और लक्ष्य को प्राप्त करो। अग्रसेन इंटर कालेज और कस्तूरबा गांधी विद्यालय की छात्राओं ने गीत प्रस्तुत किया। सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए। प्राचार्य डायट अमरनाथ राय, जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. वीके शर्मा, बीएसए देवेन्द्र कुमार पाण्डेय उपस्थित रहे।

फोटो - http://v.duta.us/GixBQwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/UHmCGAAA

📲 Get Azamgarh News on Whatsapp 💬