सरकारी प्रयोगशाला में डिजीटल वॉटर खत्म, नहीं हो रहे मरीजों के टेस्ट

  |   Chambanews

चंबा। मेडिकल कॉलेज चंबा की प्रयोगशाला में डिजिटल वाटर खत्म होने की वजह से मरीजों के किडनी, लीवर और हार्ट के जरूरी टेस्ट नहीं हो रहे हैं। इस वजह से मरीजों को टेस्ट करवाने के लिए एसआरएल या निजी लैबों का रुख करना पड़ रहा है। यहां पर मरीजों को इसके लिए पैसे अदा करने पड़ रहे हैं। यह सिलसिला पिछले कई दिनों से चल रहा है। लेकिन मेडिकल कॉलेज प्रशासन अभी तक प्रयोगशाला में डिजिटल वॉटर उपलब्ध नहीं करवा पाया है।

ऐसे में एसआरएल लैब से डिजीटल वॉटर खरीदकर काम चलाया जा रहा है। मेडिकल कॉलेज की ओपीडी में रोजाना 1500 से दो हजार के बीच में मरीजों की जांच होती है। इसमें कई मरीजों को डॉ. किडनी, लीवर और हार्ट सहित अन्य बीमारियों की जांच के लिए जरूरी टेस्ट लिखते हैं। लेकिन जब मरीज टेस्ट करवाने के लिए सरकारी प्रयोगशाला में जाते हैं, तो वहां पर मरीजों को एसआरएल लैब में भेज दिया जाता है। जबकि सरकारी प्रयोगशाला में लाखों की लागत से बायो केमिस्ट्री की मशीनें लगी हैं। लैब तकनीशियन भी प्रयोगशाला में तैनात हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/EPv0pgAA

📲 Get Chamba News on Whatsapp 💬