हर दिन जितना खाना होता है बर्बाद, उतने में भर सकता है पौने दस करोड़ लोगों का पेट

  |   Indorenews

लखन शर्मा @ इंदौर. चंद्र मिशन और मंगल छूने की बड़ी-बड़ी बातों के बीच एक कड़वा सच यह भी है कि आज भी लगभग 20 करोड़ लोग हमारे देश में हर दिन भूखे सो रहे हैं, वहीं 244 करोड़ रुपए का खाना रोज बर्बाद हो रहा है। इतने खाने में हर दिन करीब पौने दस करोड़ लोगों को कम से कम एक समय का खाना तो मिल ही सकता है। अगर लोग आगे आएं तो इस खाने को बर्बाद होने बचाकर गरीब लोगों का पेट भरा जा सकता है। बस जरूरत है एक छोटी सी शुरुआत की।

शहर में राबिनहुड आर्मी नामक संस्था इसे अंजाम दे रही है, जिसमें नि:स्वार्थ भाव से शहर के युवा जुड़े हुए हैं, जिनमें डॉक्टर, इंजीनियर से लेकर बिजनेसमैन तक शामिल हैं। युनाइटेड नेशन की फूड एंड एग्रिकल्चर ऑर्गेनाइजेशन की एक रिपोर्ट खाने की बर्बादी के सालाना 88800 करोड़ रुपए के इस आंकड़े पुष्टि करती है। रिपोर्ट कहती है कि बर्बाद खाद्यान्न में 21 मिलियन टन गेहूं संबंधी उत्पाद होता है। यानी कुल उत्पादित होने वाली खाद्य सामग्री का 40त्न हर साल बर्बाद हो जाता है। खाने को बर्बादी से बचाने के लिए नेशनल फूड बैंक डे की शुरुआत की गई थी। हर साल सितंबर माह के पहले शुक्रवार को यह दिन मनाया जाता है।...

फोटो - http://v.duta.us/Zs3bMwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/FF0T_wAA

📲 Get Indore News on Whatsapp 💬