Youth Dies In Police Custody--पुलिस छावनी क्यों बन गया मांगरोल, तनाव बरकरार, परिजनों ने नहीं लिया शव

  |   Barannews

पुलिस छावनी क्यों बन गया मांगरोल, तनाव बरकरार, परिजनों ने नहीं लिया शव

भाजपा नेताओं ने धरना किया शुरू

पुलिस पर मारपीट कर युवक को मारने का आरोप

बारां.(मांगरोल) पुलिस हिरासत में रावल-जावर निवासी युवक की मौत के मामले को लेकर दूसरे दिन शुक्रवार को मांगरोल व रावल-जावल गांव में तनाव बना रहा। परिजनों के शव लेने इनकार के बाद मांगरोल कस्बे में चप्पे -चप्पे पर पुलिस तैनात कर दी गई है। इस बीच जिला पुलिस अधीक्षक के.एल. मीणा ने कार्यवाहक थाना प्रभारी चंद्रभान सिंह, मामले के जांच अधिकारी हैड़ कांस्टेबल प्रदीप, समेत तीन जनों को निलंबित कर पूरे थाने को लाइन हाजिर कर दिया है। इस बीच मौके पर भाजपा नेता मदन दिलावर के नेतृत्व में लगभग दो हजार लोग धरने पर बैठ गए हैं। इधर भाजपा नेताओं सहित परिजनों ने इस मामले में पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने, एसआईटी से जांच कराने व २५ लाख का मुआवजा देने की मांग की है। इससे पहले शुक्रवार को पुलिस ने परिजनों को शव लेने के लिए मनाया लेकिन परिजन नहीं माने। रामगंजमंडी के विधायक मदन दिलावर के पहुंचने की सूचना के साथ थाने के बाहर सैकड़ों लोग इकट्ठा हो गए। उनके साथ कोटा के विधायक संदीप शर्मा ,पूर्व पशुपालन मंत्री प्रभूलाल सैनी, प्रदेश भाजपा मंत्री वीरप्पा , छगन माहुर, भाजपा नेता प्रेमनारायण गालव , पूर्व विधायक हेमराज मीणा, जिला प्रमुख नंदलाल सुमन, प्रशांत विजय, चंद्रप्रकाश विजय ,भाजपा जिलाध्यक्ष राजेंद्र नागर,...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/uZmuuAAA

📲 Get Baran News on Whatsapp 💬