अब तक नौ लाख से अधिक पौधे लगाए

  |   Sri-Ganganagarnews

रायसिंहनगर. नौ लाख से अधिक पौधे लगाकर दो बार लिम्का बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्डस में नाम दर्ज करवाकर सुर्खियां बटोरने वाले रायसिंहनगर निवासी प्रोफेसर श्यामसुंदर ज्याणी की इस मुहिम को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पौधो के लिए इसे पागलपन की हद बताया है। मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को आयोजित वन महोत्सव में राजकीय डुंगर महाविद्यालय के सहायक प्रोफेसर श्यामसुंदर ज्याणी का जिक्र किया। मुख्यमंत्री ने वन महोत्सव पर आयोजित कार्यक्रम में संबोधित करते हुए कहा कि बीकानेर में सहायक प्रोफेसर श्यामसुंदर ज्याणी सरकार द्वारा दिए जाने वाले वेतन से पैसा खर्च कर पौधारोपण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह ज्याणी के पागलपन की हद है कि वे अपने वेतन से पैसा खर्च कर अब तक करीब नौ लाख पौधे लगा चुके है। उल्लेखनीय है कि प्रोफ़ेसर ज्याणी क्षेत्र की रायसिंहनगर तहसील के 12 टी के गांव के निवासी हैं और लम्बे समय से वृक्षारोपण व पर्यावरण संरक्षण में सक्रिय हैं। वे अब तक अपने वेतन से लाखों पेड़ लगवा चुके हैं। इसी साल बीकानेर सम्भाग के 150 गाँवों के राजकीय स्कूलों में गांधी फल उद्यान हेतु अपने वेतन से पौधारोपण करवाकर चर्चा में रहे है। डूंगर कॉलेज में ज्याणी ने अपने वेतन से पाँच हेक्टेयर में विकसित किया है जिसे देखने हेतु हिमाचल प्रदेश से वन विभाग की टीम तक आ चुकी है। इस जंगल में 90 क़िस्म के 2500 पेड़ और अनेकों अन्य वनस्पति हैं यहाँ विकसित जन पौधशाला से ज्याणी अब तक एक लाख पौधे निशुल्क बाँट चुके हैं। लिम्का बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉड्र्स में ज्याणी का दो बार नाम दर्ज हो चुका है।...

फोटो - http://v.duta.us/E9lt5wAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/aBwSZwAA

📲 Get Sri Ganganagar News on Whatsapp 💬