आनलाइन प्रक्रिया में फंसे लोग, नहीं मिल रहा राशन

  |   Haridwarnews

जिला आपूर्ति विभाग की लापरवाही से राशन कार्ड में नाम दर्ज होने पर भी 4,63,513 लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। इन लोगों में करीब डेढ लाख को सस्ता गेहूं चावल नहीं मिल रहा है तो करीब चार लाख को आयुष्मान योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। इसकी वजह यह है कि लोगों के राशन कार्ड आधार से लिंक नहीं है।

बता दे कि राशन कार्डों को आधार से लिंक कराने का काम चार साल से चल रहा है। पहले राशन कार्ड के मुखिया के नाम को आधार से लिंक कराया, लेकिन बाद में केंद्र सरकार की योजना बनी कि राशन कार्ड में दर्ज प्रत्येक व्यक्ति का आधार कार्ड लिंक होना चाहिए, तभी उन्हें राशन की दुकान से सस्ता खाद्यान्न मिल सकेगा। इसके लिए राज्य सरकार ने राशन डीलरों को बायोमैट्रिक मशीन, कंप्यूटर, प्रिंटर, इंटरनेट चलाने के लिए डिवाइस आदि उपकरण भी उपलब्ध कराए। राशन कार्ड धारकों का आधार कार्ड लिंक कराने का काम दो साल में पूरा कर लिया था। अब जब आयुष्मान योजना आई तो बहुत से लोगों के राशन कार्ड में आधार लिंक न होने से उन्हों योजना का कार्ड नहीं बन सका। अब ऐसे लोगों से आधार लिंक करने के लिए 10 रुपये प्रति कार्ड शुल्क लिया जा रहा है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/IyuMjwAA

📲 Get Haridwar News on Whatsapp 💬