एक ही ई-वे बिल से तीन-तीन चक्कर काट रहे हैं गुटखा-तंकाबू के ट्रक

  |   Gwaliornews

ग्वालियर. कारोबारियों ने तू डाल-डाल तो मैं पात-पात की तर्ज पर जीएसटी कानून का भी तोड़ निकाल लिया है। नियमों की आड़ का फायदा लेते हुए एक ही इ-वे बिल से तीन-तीन बार गुटखे और तंबाकू का परिवहन करने का काम खुलेआम जारी है और राज्य कर जीएसटी विभाग आंखे मूंदकर बैठा है। यहां बता दें कि गत वर्ष नवंबर माह में विभाग की ओर से इसी तरह के एक मामले में गुटखे का परिवहन करने वाले वाहन से 39 लाख से अधिक की पेनल्टी वसूल की गई थी।

हर रोज आ रहीं एक हजार गुटखे की बोरियां

शहर में गाजियाबाद, आगरा, दिल्ली, अहमदाबाद, भोपाल, कानपुर से गुटखा वाहनों के जरिए परिवहन किया जाता है। जानकारी के मुताबिक यहां हर रोज करीब एक हजार गुटखे की बोरियां आ रही हैं। एक बोरी की कीमत करीब 20 हजार रुपए होती है। गुटखे पर 28 फीसदी जीएसटी व 60 फीसदी सेस और तंबाकू पर 28 फीसदी जीएसटी के साथ 160 फीसदी सेस लगने के कारण ही इन दोनों पर सबसे अधिक कर अपवंचन किया जाता है।...

फोटो - http://v.duta.us/Dp-OUwAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/yBNhAAAA

📲 Get Gwalior News on Whatsapp 💬