एलएमसी की करोड़ों की भूमि बेचने की तैयारी

  |   Meerutnews

एलएमसी की करोड़ों की भूमि बेचने की तैयारी

सरधना। मेरठ-करनाल हाईवे पर नानू गांव से भूनि की तरफ कुछ दूरी पर एलएमसी की भूमि खाली पड़ी है। उस भूमि के बराबर में एक प्राईवेट चिकित्सक की कृषि भूमि हैं। कृषि भूमि का फायदा उठाकर चिकित्सक ने एलएमसी की भूमि पर ज्वार की फसल बो दी। एक साइड से अपना रास्ता बताते हुए पक्की बाउंड्री भी कर दी। अब प्लाटिंग शुरू कर दी। जिसके बाद मामला ग्रामीणों के संज्ञान में आया। उन्होंने एसडीएम से कार्रवाई की मांग की है।

मेरठ-करनाल हाईवे पर नानू गांव के बाहरी छोर पर भूनि की तरफ एलएमसी की भूमि काफी समय से खाली है। भूमि की कीमत करोड़ों रुपये की हैं। ऑन रोड एलएमसी की खसरा संख्या 779 करीब 2250 मीटर भूमि हैं। इसी के पीछे गांव के एक प्राईवेट चिकित्सक की भूमि हैं। जिसका खसरा संख्या 777 है। चिकित्सक ने अपनी भूमि की एवज में खाली पड़ी एलएमसी की भूमि पर ज्वार की फसल बोकर कब्जा जमा लिया है। वर्तमान में चिकित्सक ने भूमि पर ज्वार की फसल बो रखी है। इस भूमि की कीमत करीब दो करोड़ रुपये से अधिक मानी जा रही है। चर्चा है कि कब्जे के इस खेल में हल्का लेखपाल व कानूनगो भी शामिल हैं। मामले की पहले भी शिकायत की गई। लेकिन तहसील स्तर पर ही शिकायत को दबा लिया गया। इस भूमि पर प्लाटिंग की तैयारी की जा रही हैं। एक साइड से रास्ता बतारि बाउंड्ररी करा दी। अब प्लाट काटकर करोड़ों की जमीन को बेचने की तैयारी है लेकिन अधिकारी अंजान हैं। इस संबंध में ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान व एसडीएम अमित कुमार भारतीय से भी शिकायत की। जिस पर एसडीएम अमित कुमार भारतीय ने शनिवार को मौके पर जाकर मामले की जांच करने की बात कही है। साथ ही कहा है कि एलएमसी की भूमि पर कब्जा नहीं होने दिया जायेगा।...

फोटो - http://v.duta.us/rOLL8QAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/aQgFsQAA

📲 Get Meerut News on Whatsapp 💬