कश्मीरी छात्रों की पहचान नहीं है आसान

  |   Aligarhnews

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में कश्मीरी छात्रों की पहचान आसान काम नहीं है। खुफिया विभाग ही नहीं बल्कि एएमयू प्रॉक्टोरियल टीम का नेटवर्क भी इनके बीच बेहद कमजोर है। आतंकी मन्नान वानी के मारे जाने के बाद नमाज-ए-जनाजा को लेकर हुए विवाद में प्रॉक्टर ऑफिस द्वारा कई वैसे लोगों को नोटिस दे दिया गया था जो सालों पहले पढ़ाई पूरी कर चले गए थे। उस समय प्रॉक्टोरियल टीम की बहुत किरकिरी हुई थी। यहीं कारण है कि इस बार प्रॉक्टोरियल टीम के सदस्य फूंक-फूंक कर कदम उठा रहे हैं।

बृहस्पतिवार को एएमयू में प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं के फोटो, वीडियो के साथ-साथ सीसीटीवी फुटेज आदि अधिकारियों के पास मौजूद हैं। लेकिन 30 घंटे बीत जाने के बाद मात्र चार छात्रों की पहचान हो सकी है। इसमें एक छात्र नेता हैं जो कश्मीर के नहीं हैं। दरअसल कैंपस में कश्मीर के छात्र कुछ अलग अंदाज में रहते हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/gSWEqQAA

📲 Get Aligarh News on Whatsapp 💬