गेहूं खरीदी में करोड़ों की हेराफेरी में विशेषज्ञ कर रहे जांच

  |   Ratlamnews

रतलाम। व्यापार विस्तार एवं एफसीआई के तहत गेहूं खरीदी के लिए करोड़ों रुपए लेकर हेराफैरी करने के मामले में जांच कर रही पुलिस ने मामले से जुड़े पांच व्यापारियों के पिछले चार सालों के व्यापारिक दस्तावेज मंगवाए है और अब उनकी विशेषज्ञों से जांच करवाई जा रही है। यदि इस जांच में उक्त व्यापारियों की गड़बड़ी दिखी तो पुलिस इन्हे भी घपलेबाजी का जिम्मेदार मानते हुए आरोपी बनाएगी, अन्यथा न्यायिक हिरासत में बंद मुख्य आरोपी से आगे की पूछताछ करेगी।

गौरतलब है कि जावरा शहर में पिछले एक करीब एक पखवाड़े से मंडी व्यापारी द्वारा लगभग 13 करोड़ रुपए की हेराफैरी कर देने का मामला सुर्खियों में है और इस मामले में पुलिस एक आरोपी को लंबी जांच के बाद सलाखों के पीछे पहुंचाने में कामयाब हो पाई है। शहर के व्यापारी मोहम्मद इरफान निवासी तालनाका के मुताबिक उसने विजय पोरवाल को व्यापार विस्तार के नाम पर लगभग 12 करोड़ 89 लाख रुपए दिलवाए थे, जिसमें शुरू के वर्ष में कुछ लाख रुपए का मुनाफा कमाकर दिया गया। लेकिन बाकी की राशि का पता ही नहीं चला। विजय से बारबार जब राशि के लिए कहा गया तो वह टालने लगा और ऐसे में इरफान ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने जब विजय पोरवाल पर जांच के बाद मुकदमा दर्ज किया और उससे रिमांड पर पुछताछ की तो उसने अपने पांच साथियों के साथ उक्त राशि का व्यावसायिक उपयोग करने की जानकारी दी। ऐसे में पुलिस ने बताए गए नाम विनोद सेठिया, राजकुमार पोरवाल, पंकज पोरवाल, मनीष पोरवाल और नागदा के शंभु पोरवाल से पुछताछ की। इसके साथ ही नोटिस देते हुए इनसे कहा गया कि ये वर्ष 2015 से लेकर अब तक के अपने व्यापारिक लेन देन एवं अर्जित की गई सम्पत्ती का ब्योरा पुलिस को उपलब्ध कराए।...

फोटो - http://v.duta.us/xN4CSAAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/e6oLUAAA

📲 Get Ratlam News on Whatsapp 💬