जन्म के कुछ ही घंटों बाद इसलिए दुनिया छोड़ चली मासूम

  |   Jalorenews

जालोर/बागोड़ा. लड़का-लड़की में भेद नहीं का स्लोगन भले ही देशभर में जोर शोर से चल रहा है और यह माना जा रहा है कि अब बेटे और बेटी में भेद कम हो रहा है, लेकिन इस पक्ष के साथ एक चौंकाने वाला दूसरा पहलू बागोड़ा थाना क्षेत्र के धुंबडिय़ा में सामने आया, जहां मासूम बच्ची के जन्म के एक ही दिन बाद में उसका विकसित शव मिला, जिससे यह एक बार फिर साफ हो गया कि बेटों की चाहत में बेटियों को आज भी दुनिया छोडऩे को विवश होना पड़ रहा है।

घटनाक्रम में यह बात सामने आ रही है कि आज भी मानसिक कुंठा और परिवारवाद में बेटियों की तुलना में बेटों को तवज्जो दी जा रही है और इसी चाहत में जन्म के कुछ ही घंटों के बाद बेटियों को दुनिया से रुख्सत होना पड़ रहा है। लिंगभेद के हालात अब भी लगातार किसी न किसी रूप में दिखाई दे रहे हैं, जिन्हें रोकने में प्रशासन और सरकार अनेक प्रयास करती है, लेकिन सफल नहीं हो पा रही। नैतिकता का ह्वास इस कदर हो चुका है कि मासूम किलकारी पर हैवानियत ही हावी रहती है, जो बेटियों को मौत के घाट उतार देती है।...

फोटो - http://v.duta.us/Nbi6CQEA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/AIk7vQAA

📲 Get Jalore News on Whatsapp 💬