जिम्मेदारों की लापरवाही,पानी में टूट रही सांसों की डोर

  |   Jaisalmernews

पोकरण. बाबा रामदेव के मेले के दौरान क्षेत्र के रामदेवरा गांव में स्थित रामसरोवर में डूबने की घटनाएं रोकने के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए है। यहां एसडीआरएफ, नागरिक सुरक्षा विभाग व तैराक तैनात किए गए है। रामदेवरा से महज 12 किमी दूर पोकरण में बाबा रामदेव के गुरु बालीनाथ महाराज के आश्रम के पीछे स्थित रामदेवसर तालाब पर सुरक्षा के कोई प्रबंध नहीं है। ऐसे में गत दिनों बारिश से भरे पानी में डूबने की घटनाएं होने लगी है। गौरतलब है कि गत दिनों पोकरण में हुई बारिश के बाद तालाबों में पानी की अच्छी आवक हुई। कस्बे के रामदेवसर तालाब में आठ-दस फीट पानी भरा हुआ है। इसके अलावा कुछ जगहों पर हुए गड्ढ़ों में 15 फीट तक पानी भरा है। गुरुवार को यहां नहाने के लिए गए दो बच्चों की डूब जाने से मौत हो गई। यहां मेले के दौरान गुरु के आश्रम पर दर्शन करने के लिए आने वाले हजारों यात्री भी इसी तालाब पर नहाते है। जिन्हें तालाब की गहराई का अंदाजा नहीं होता है तथा वे गहरे पानी में उतर जाते है, जो उनके जानलेवा साबित हो सकता है। बावजूद इसके प्रशासन की ओर से यहां तैराक व सुरक्षाकर्मी लगाने को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।...

फोटो - http://v.duta.us/jHNj5QAA

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/b8iT9wAA

📲 Get Jaisalmer News on Whatsapp 💬